Breaking News

खाद्य तेल के दाम में आई भारी गिरावट, दिवाली के बाद इन सभी चीजों के दाम होंगे कम !

दोस्तों कोरोना महाभारी के बाद लगातार महंगाई बढती दिखाई दे रही है जिससे लोगो को खाने पीने की चीजो को खरीदने में काफी दिक्कते हो रही है. सरसों और रिफायंड ऑयल का दाम एक दम से दुगुना हो गया है और वहीँ दालो के दाम भी आसमान पर पहुँच गये है.

मार्च से अगस्त महीने में खाने पीने की चीजो में 20 से 25 % की बढौतरी देखने को मिल रही है. लेकिन अब दिवाली के समय खाद्य तेल की कीमतों में 3 % की गिरावट देखने को मिली है. यानी की तेल के दाम 5 से 6 रूपये कम हो गये है. कहा जा रहा है कि त्योहारों के बाद ये दाम और कम होने वाले है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि खाद्य तेल की आवाक राजस्थान और आगरा से होती है. वहीँ बाज़ार में फ़िलहाल तेल 186 से 205 रूपये प्रति लीटर मिल रहा है और थोक भाव में ये 183 से 195 रूपये के बीच मिलता है. 15 किलो की तेल टीन 3050 रूपये में मिल जाती है. खबरों की माने तो दिवाली के बाद जनवरी में नई फसलों के तैयार होने के फलस्वरूप कीमतों में और भी गिरावट देखने की मिलेगी.

खुदरा बाज़ार में सोयाबीन और पाम ऑयल की कीमतों में भी 10 % की नरमी आई है. बाजारों में इन दिनों सोयाबीन 140 से 156 रूपये लीटर व् पाम ऑयल 130 से 132 रूपये प्रति लीटर की दर से बिक रहे ही. जबकि थोक बाज़ार में सोयाबीन तेल 130 से 145 रूपये और पाम तेल 120 से 121 रूपये में बिक रहे है.

तेल के अलावा सब्जियों के दाम भी कम होना शुरू हो गये है. जहाँ आलू प्याज के दाम में थोड़ी गिरावट देखने की मिल रही है वहीँ टमाटर के रेट दिनप्रति दिन बढ़ते ही जा रहे है. टमाटर बाज़ार में 60 से 80 रूपये किलो मिल रहे है. बीते साल कोरोना काल में टमाटर के दाम काफी तेजी से बढ़े थे. जहाँ उस समय टमाटर 80 रूपये किलो देखने को मिले थे तो वहीँ प्याज 120 से 150 रूपये किलो तक महंगे हो गये थे.

हालांकि अब खाने पीने की चीजो के दाम में गिरावट देखने को मिलने लगी है और दिवाली के बाद इन चीजो के दाम और भी कम हो जायेंगे. फ़िलहाल लोगो के लिए ये राहत देने वाली खबर है.

About Yash Khariwal

Check Also

KBC कंटेस्टेंट बोली मुझे आपसे गले मिलने का कोई शौक नही है, शाहरुख़ ने दिया ऐसा रिएक्शन

दोस्तों KBC को सालों से बॉलीवुड के नायक अमिताभ बच्चन होस्ट कर रहे है लोगो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *