आखिर कितनी ताकतवर है ब्रिटैन की महारानी ? queen elizabeth ii

आज के समय में दुनियां का सबसे ताकतवर देश अमेरिका को और सबसे ताकतवर आदमी अमेरिका के राष्ट्रपति को माना जाता है पर क्या आप लोग जानते है कि सेकंड वर्ल्ड वॉर के पहले तक दुनियां का सबसे ताकतवर देश ब्रिटेन को और सबसे ताकतवर व्यक्ति ब्रिटेन के राजा को माना जाता था

और उसकी मौत के बाद जब उनकी बेटी वहां की रानी बनी तो उसको दुनियां का सबसे शक्तिशाली व्यक्ति माना जाने लगा और समय के साथ दुनियां के ज्यादातर देश लोकतांत्रिक होने लगे जिसे ब्रिटन के महारानी अब बस नाम की ही महारानी रह गई इसके बाद भी ब्रिटेन की महारानी को बहुत सी सूचियों में दुनियां की सबसे शक्तिशाली महिला के साथ साथ दुनियां के सबसे शक्तिशाली व्यक्तियों में गिना जाता है

इतना ही नही वो दुनियां की सबसे चर्चित शक्सिय्तों में से एक है और शायद दुनियां की सबसे चर्चित शक्सियत भी !

2003 तक ज्यादातर लोग इस बात को नही जानते थे की इंग्लेंड की महारानी के पास आखिर कितनी ताकत है या फिर वो कितनी ताकतवर है पर 2003 में जब वहां की सरकार ने एक लिस्ट जारी करके यह बताया की ब्रिटेन की सरकार महारानी के विहाप पर क्या क्या काम करती है

और कितने काम करती है तो पूरी दुनियां महारानी की असली ताकत को जान गई जिसको अभी तक आम लोग नही जानते थे !ब्रिटेन की महारानी का जन्म 21 अप्रैल 1956 को ब्रिटेन के राज परिवार में हुआ था

ज्यादातर लोग ब्रिटेन की महारानी को क्वीन एलिजाबेथ के नाम से जानते है जबकि उनका पूरा नाम एलिजाबेथ एलेगजेंडरिया मैरी है !

अपनी पिता की मौत के बाद 6 फरवरी 1952 को एलिजाबेथ को ब्रिटेन की महारानी चुना गया उस समय वो केवल 26 वर्ष की थी पर क्या आप लोग जानते है की ब्रिटेन की महारानी यूनाइटेड किंगडम के आलावा केनेडा , ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड की भी रानी है साथ ही साथ वो 12 देश जो उनकी रानी बनने के बाद आजाद हुए वो उनकी भी रानी है

जिसमे शामिल है जमाइका ,बहामास, ग्रेनेडा ,पापुआ न्यू गिनी , सोलोमन द्वीपसमूह , तुबालू ,संत लूसिया , संत विन्सेंट और ग्रेनाडाइन्स , बेलीज , अंटीगुआ , बारबुडा , संत किट्स और नेविस इतना ही नही वो कोमन वेल्थ देशों की हेड भी है जसमे भारत भी शामिल है तो आप समझ सकते है की वो केवल UK की ही नही बल्कि दुनियां के बहुत से देशों की आज भी रानी है ! चाहे वो देश एक लोकतान्त्रिक प्रक्रिया को ही क्यों न चुन चुके हो !

वैसे तो ब्रिटेन भी एक लोकतान्त्रिक देश है और वहां भी भारत की तरह संविधान सुप्रीम है पर फिर भी वहां महारानी को ऐसी ताकतें मिली है जो किसी लोकतान्त्रिक देश में किसी को नही मिलती !

पहला तो महारानी संविधान से उपर है और उनको किसी तरह के कानून का पालन करने की कोई जरूरतनही है आप लोगों को जानकार हैरानी होगी की महारानी को दुनियां में किसी भी देश में जाने के लिए पासपोर्ट की जरूरत नही है क्योंकि महारानी के पास कोई पासपोर्ट है ही नही बल्कि ब्रिटेन के सारे पासपोर्ट महारानी के नाम पर इशु कियेजाते है और वो ब्रिटेन की हेड ऑफिस ट्रेड भी है जिसके कारण उनको वो सारी सुविधाएँ दी जाती है जो किसी भी हेड ऑफिस ट्रेड को मिलती है

जब भी यह किसी और देश में जाती है तो उस देश को पहले से ही इन्फॉर्म किया जाता है इतना ही नही महारानी को ड्राइविंग के लिए ड्राइविंग लाइसेंस की भी जरूरत नही है क्योंकि ड्राइविंग लाइसेंस भी महारानी के नाम पर ही इशु किया जाता है साथ ही साथ उनको अपनी गाड़ी पर नम्बर प्लेट लगाने की भी कोई जरूरत नही है

असलियत में महारानी को किसी भी तरह की किसी ID की कोई जरूरत ही नही है वैसे आपको जानकार हैरानी होगी की ब्रिटेन की महारानी को अपने टैक्स पे न करने की छुट है पर वो ऐसा नही करती है वो अपने टैक्स को पे करती है पर यह तो महारानी की ताकत का बस एक छोटा सा नमूना है अगर महारानी चाहे तो वो किसी भी युद्ध कोशरू और खत्म कर सकती है यहाँ तक की वो परमाणु युद्ध भी छेड़ सकती है शायद दुनियां में यह बहुत से लोग नही जानते होंगे की इंग्लेंड की महारानी वहां की संसद को विना पूछे युद्ध की घोषणा कर सकती है

परन्तु अगर ब्रिटेन की संसद ऐसा करना चाहे तो उनको पहले महारानी से परमिशन लेनी होगी इतना ही नही वहां की संसद महारानी से विना पूछे परमाणु हथियार का इस्तेमाल नही कर सकती है क्योंकि ऐसा करने का अधिकार केवल महारानी के पास है !इतना ही नही महारानी को UK में किसी भी कानून से उपर माना जाता है जिसके कारण इन पर कोई भी मुकदमा नही चलाया जा सकता है

साथ ही साथ किसी और देश में भी उनपर ऐसा कर पाना लगभग नामुमकिन है क्योंकि वो उस देश में ब्रिटेन के डिप्लोमेंट के रूप में जाती है इसका मतलब वो दुनियां के किसी भी देश में किसी भी तरह का कोई भी क्राइम कर दें और उनपर किसी भी तरह का कोई भी मुकदमा नही चलेगा और ऐसा बिलकुल भी नही है

की महारानी किसी भी देश या अपने देश के कानून का पालन नही करती है बल्कि वो अपनी छवि को लेकर बहुत केयरफुल रहती है और वो ज्यादातर नियमों का पालन करती है इतना ही नही पूरी दुनियां में महारानी से स्वंधित अगर आप कोई जानकारी पाना चाहें तो आपको वो जानकारी नही दी जाएगी क्योंकि महारानी को फ्रीडम ऑफ़ इन्फोर्मेशन से दूर रखा गया है ! महारानी के साथ साथ रॉयल फैमली से जुड़ी कोई जानकारी पब्लिक नही की जाती है जब तक की वो खुद न चाहें !

चलिए आगे बढ़ते है !

आपको जानकार हैरानी होगी की ब्रिटेन के नागरिकों को वहां का नागरिक नही बल्कि राजशाही से जुड़ा एक विषय माना जाता है तो अगर महारानी चाहें तो वो किसी को भी गिरफ्तार करवा सकती है और अगर वो चाहे तो किसी की प्रोपर्टी को सीज भी करवा सकती है जिसको क्राउन के अंदर ले लिया जाएगा !

शायद आपको न पता हो पर ब्रिटेन के सारे समुद्री तटों पर महारानी का अधिकार है और अगर कोई नाव वहां पर पाई जाए तो वो महारानी की मानी जाती है इतना ही नही वहां पर समुद्री किनारों पर पाई जाने बालीसारी व्हेल्ज , डॉल्फिन और जो भी चीजें वहां के पानी में तैरती है सब पर महारानी का अधिकार है ! महारानी को किसी को भी सजा देने का अधिकार है और कोई भी उसको पूछने बाला नही होगा क्योंकि वो उनके अधिकार क्षेत्र में आता है

और अगर कोई महारानी के खिलाफ करना भी चाहे तो वो ऐसा नही कर पाएगा क्योंकि महारानी कानून और संविधान से उपर है इतना ही नही अगर ब्रिटेन की सरकार , प्राइम मनिस्टर या संसद महारानी को रोकना चाहे या फिर उनकी ताकत में कुछ कमी करना चाहे तो वो ऐसा बिलकुल नही कर सकते है क्योंकि महारानी विना किसी की राय के संसद को भंग कर सकती है और प्राइममनिस्टर को हटा कर अपनी मर्जी से किसी को भी नया प्राइम मनिस्टर बना सकती है !

महारानी के बहुत सेकर्तव्य में से एक ब्रिटेन का प्रधानमंत्री चुनना भी है वैसे तो यह एक लोकतांत्रिक प्रतिक्रिया के तहत होता है पर फिर भी आखरी मोहर महारानी ही लगाती है वो किसी को भी प्रधानमंत्री बना सकती है चाहे उसको जनता ने चुना हो या नही इतना ही नही अगर महारानी को जनता द्वारा चुने संसद पसंद न आएं तो वो उनको हटा सकती है और वो चाहे तो संसद को भंग भी कर सकती है

जब तक की उनको अपने पसंद की संसद न मिले और महारानी ऐसी ताकतों का दुरुपयोग नही करती है क्योंकि उससे उनकी छवि एक तानाशाही की हो जाएगी फिर भी उनकी ताकत को नजरअंदाज नही किया जा सकता !

वैसे आप सोच रहे होंगे की महारानी के पास इतनी ताकत आती कहाँ से है तो हम आपको बता देना चाहते है की महारानी ब्रिटिश आर्मी की कमांडर चीफ भी है और वहां का हर एक सैनिक क्राउन की सेवा करने की कसम खाता है और किसी भी चीज की नही ! महारानी किसी तरह के कानून को नही बनाती है बल्कि वो संसद द्वारा बनाए कानूनों पर आखरी मोहर लगाती है और अगर वो चाहे तो संसद के द्वारा पास किये गए किसी भी लो को रोक सकती है हम आपको बता दें की ब्रिटेन की संसद में ऐसे किसी विषय में बहस नही हो सकती है जो राजशाही के खिलाफ हो या फिर उनकी ताकत को कम करना चाहे !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *