सबसे बड़ी जीत सैमसंग का डिस्प्ले यूनिट चीन से भारत में शिफ्ट | “मेक इन इंडिया” | चीन को लगा बहुत बड़ा झटका

तो दोस्तों सैमसंग ने यहां पर चाइना को एक काफी बड़ा झटका दे दिया है क्योंकि इनकी पहले जो चाइना की भीतर डिस्प्ले मेनिफेक्चर्ड थी तो उन्होंने तो पूरी की पूरी यूनिट थी इंडिया के भीतर नोएडा में आप सेट अप करनी है।

इसका जो भी कंस्ट्रक्शन का काम पेंडिंग था तो फाइनली वह पूरी तरह से कंप्लीट हो चुका है और यू मान लीजिये आप मेक इन इंडिया पॉलिसी के यहां पर एक काफी बड़ी जीत हुई है। बिकॉज़ आज के समय अगर हम देखे तो पूरी दुनिया में बेहद ही कम ही ऐसे देश है जहां पर डिस्प्ले मेनिफेक्चर्ड की जाती है। बिकॉज़ इसमें जो टेक्नोलॉजी यूज़ की जाती वह काफी ज्यादा सोफिस्कटेड इंटेक्स होती है और फाइनली इस तरह की बेहद ही एडवांस टेक्नोलॉजी के साथ अब इंडिया भी काम करेगा।

जाहिर सी बात है इन्होंने सरकार द्वारा जो PLI स्कीम बनाई गई है तो उसी का बेनिफिट उठाते हुए यह सभी अपने मेनिफेक्चरिंग को इंडिया के भीतर शिफ्ट कर रहे हैं और इनके इन्वेस्टमेंट कॉफी मेस्सिव है |

लगभग 4 से 5000 करोड़ रूपीस की इन्वेस्टमेंट कर रहे हैं इंडिया के भीतर और इससे था हजारो की संख्या में जॉब अपॉर्चुनिटी से निकलकर आएगी। यहां पर संडे को ही साउथवेस्ट एशिया प्रेसिडेंट और सीईओ कैंक्वा ने चीफ मिनिस्टर योगी आदित्यनाथ को कहा कि क्योंकि यहां पर हमें इंडिया के भीतर काफी बेहतरीन इंडस्ट्री एनवायरनमेंट मिला है और इन्वेस्टर फ्रेंड लिपॉलिसिस भी है।

यहां पर काफी अच्छी अच्छी पॉलिसी से एस्पेशली स्कीम है तो वह भी काफी अट्रैक्टिव है। इसी के चलते सैमसंग में डिसाइड किया कि वह अपनी पूरी की पूरी डिस्प्ले मेनिफेक्चरिंग यूनिट चाइना से इंडिया के भीतर शिफ्ट करेंगे। इन नोएडा |

यहां पर चीफ मिनिस्टर आदित्यनाथ जी ने भी इन्हें भरोसा देते हुए कहा कि इनको फ्यूचर में चलकर जो भी इनके रिक्वायरमेंट होगी कंपनी की फ्यूचरनेट तो उसे भी सरकार जितना पॉसिबल हो सके उतना हेल्प करेगी।

अब यह हेल्प हो सकती है इन टर्म्स ऑफ़ लैंड लैंड जो भी एरिया है तो उसमें थोड़ी एक्सटेंशंस वो लोग दे देंगे। अदर देन देश इलेक्ट्रिसिटी हो सकती है या फिर जो भी अप्रूवल सैंक्शंस होते हैं, उनमें अदर वाइज लोन में भी यह थोड़ी आसानी कर देंगे।

ओवरऑल देखा जाए तो सैमसंग जे सी कंपनी देखकर बाकी की जो भी कंपनी से तो वह भी काफी ज्यादा प्रोत्साहित महसूस करती है कि इंडिया के भीतर वह भी अपने मेनिफेक्चरिंग प्लांट्स को सेट अप करें। एक काफी पॉजिटिव इंपैक्ट पड़ा है।

अगर हम स्पेसिफिक ली इंडिया के प्रति देखे तो ऑल ओवर वर्ल्ड में और आज के समय में काफी सारी ऐसी कंपनी से अब जो चाइना की बजाय इंडिया को काफी ज्यादा अपना पोस्ट प्रेफरेंस दे रही है | धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published.