मोदी के नेतृत्व में 15000 किलोमीटर सीमा के लिए भारत की डिफेन्स पॉलिसी में बड़ा बदलाव | अमित शाह का बड़ा रोल |

नमस्कार दोस्तों स्वागत है। आ दोस्तों इस वक्त ही बहुत ही बड़ी। बहुत ही बड़ी खबर आ रही है। भारत के गृह मंत्री अमित शाह जी से अमित शाह जी ने जो आज बयान दिया है वह भारत के लोगों की छाती को चौड़ा कर देने वाला है और साथ में ही यह एक ऐसा दमदार बयान है जो भारत की बढ़ती हुई धार को दिखाता है।

भारत के गृह मंत्री अमित शाह जी ने बॉर्डर फेंसिंग को लेकर भी बातें बोली है। क्या है सारे का सारा मामला आज किस रिपोर्ट में आपको डिटेल से बता देने वाली है। इस रिपोर्ट को भारत के गृह मंत्री अमित शाह जी ने आज बहुत बड़े बयान दिए हैं।

उन्होंने कहा है कि बॉर्डर फैंसी का काम लगातार तेजी से चल रहा है। दोस्तों क्या आप जानते हैं कि भारत जैसा बड़ा देश आज 15000 किलोमीटर का बॉर्डर सांझा करता है। नेपाल, बांग्लादेश, चीन, पाकिस्तान जैसे देशों के साथ उनका कहना है कि भारत की सरकार बहुत तेजी से 100% फेंसिंग का काम कर रही है।

बांग्लादेश की बॉर्डर पर 9720 जी बॉर्डर फेंसिंग का काम पूरा हो गया है और तीन फीसदी भी बचा हुआ काम आने वाले 2022 में कंप्लीट कर लिया जाएगा। लेकिन जो बोली इंटरेस्टिंग बाद भारत के गृह मंत्री ने बोली है। वह बात है।

भारत की एक डिफेंस पॉलिसी के बारे में उन्होंने कहा कि भारत को लेकर मैं बहुत चिंता में था जब मैं राजनीति में नहीं आया था। तब मुझे की बातें देखने को मिलती थी। मैं महसूस करता था कि भारत के डिफेंस पॉलिसी नहीं है।

भारत अपनी विदेश नीति के कारण अपनी डिफेंस पॉलिसी में बदलाव कर देता था। यानी कि अगर कोई दुश्मन देश हमारे ऊपर अटैक मारता है और पहला अटैक उसने किया है और दूसरे अटैक के बाद भारत जब उसके ऊपर कब्ज़ा कर लेता है। तू विदेशों में भारत की छवि खराब ना हो जाए। इसके चलते हम अपनी डिफेंस पॉलिसी किसी को इग्नोर मार देते ठंडे बस्ते में डाल देते थे।

लेकिन उन्होंने कहा कि आज वक्त बदल चुका है और भारत आज डिफेंस पॉलिसी को आगे रखता है और दुश्मन को उसी की भाषा में जवाब देना अच्छी तरीके से जानता है। हालांकि उन्होंने नाम लेकर नहीं कहा, लेकिन चीन और पाकिस्तान की बखिया उधेड़ कर आज उन्होंने रख दी। दरअसल भारत ने पाकिस्तान को भी संदेश दिया। चीन को भी संदेश दिया।

उनका बयान भी आपको सुनाएंगे लेकिन क्या उनका आईडिया था, पहले समझ ले फिर बयाना को अच्छे से क्लियर होगा।उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने एक थी अटैक किया 1971 में हमने बांग्लादेश बना दिया, लेकिन 93000 सैनिक इकट्ठा हमने कर लिया गिरफ्तार कर लिया, लेकिन फिर भी हमने पीओके की डिमांड नहीं की।

उस समय कब आ रहा था लेकिन इस समय का भारत क्या है। पुलवामा अटैक हुआ। भारत में 3 बार सर्जिकल स्ट्राइक कर दी और यह भारत है जो आज दुश्मन को उसी की भाषा में जवाब देना अच्छे तरीके से जानता है। भारत की यह डिफेंस पालिसी आपको केसी लगी कँनेट में जरूर बताये | धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *