मालिक भिखारी के कपड़े पहन कर अपने होटल में गया और फिर मैनेजर ने उसके साथ किया ?

दोस्तों यह कहावत तो आपने सुनी होगी की अपनों और परायों के बीच का फर्क अगर कोई बता सकता है तो वो है आपकी परिस्थिति क्योंकि कामयाव और खुशहाल लोगों की वाहवाही करने बाले लोगों की कोई कमी नहीं है लेकिन जब आपकी परिस्थितियों की करवट बदलती है तो लोग अपना असली रंग दिखाना शुरू कर देते है

और ठीक ऐसा ही कुछ यहाँ पर भी देखने को मिला क्योंकि जब कई सारे रेस्टोरेंट के ऑनर एक भिखारी के कपड़े पहनकर अपने रेस्टोरेंट में खानामांगने गए तो उनके साथ कुछ ऐसा हुआ जिसे देखकर उनकी आँखों में आंसू आ गए और उन्हें खुद से ही शर्मिंदगी महसूस होने लगी ! अब इनके साथ ऐसा क्या हुआ था इसे जानने के लिए हमारे साथ इसी तरह  अंत तक बने रहिये !

 

 

दोस्तों यह कहानी है डॉन मोंटेरो की जिनके स्पेन में कई सारे लग्जुरियस रेस्टोरेंट मौजूद थे और इन सभी रेस्टोरेंट्स को इन्होने काफी मेहनत से खड़ा किया था लेकिन एक दिन अचानक से ही इनकी जिंदगी में तूफ़ान आ गया और इन्हें यह पता चला की इन्हें कैंसर है और यह लास्ट स्टेज में है यानी अब इनके बचने की कोई उम्मीद नहीं है लेकिन उन्होंने भी यह सोच रखा था की इनके पास जितनी भी बची खुची जिंदगी है यह जरूरतमंदों की मदद करके उनके चेहरे पर खुशियां लाएंगेमरे तो इनको याद करने बाले लोगों की कमी न हो ! हलांकी डॉन मोंटेरो का स्वभाव काफी दयालु था इसलिए यह कभी भी किसी की मदद करने से पीछे नहीं हटतेथे और अब तो इन्होने बेड़ाउठा लिया था की जो कोई जरूरतमंद मिलेगा यह उनकी मददकीकसरनहीं छोड़ेंगे !

इसी बजह से उन्होंने एक भिखारी का रूप धारण करके अपने सभी रेस्टोरेंट्स में जाने का विचार बनाया ताकि यह देख सके की इनके रेस्टोरेंट मेंजरूरतमंद लोगों के साथ किस तरह का व्यवहार करते है लेकिन जब यह अपने पहले रेस्टोरेंट पर गए तो वहां पर रेस्टोरेंट के मैनेजर ने इनके साथ जिस तरह का व्यवहार किया उसे देखकर इनकी आँखों में आंसू आ गए ! डॉन बोंटेरो सबसेपहले अपने उस रेस्टोरेंट में गए जो आल ओवर स्पेन में फेमस था और बाहर से आने बालेलगभग सभी टूरिस्ट एक न एक बार उस रेस्टोरेंट में खाना जरूर खातेथे ! रेस्टोरेंट के अंदर जाते ही उन्हें बाहर वॉचमेन मिला और उसने इन्हें बाहर से ही जाने को कह दिया लेकिन फिर जब इन्होने वॉचमेन से यह बताया की यह कई दिनों से भूखे है तो उसने रेस्टोरेंट केमैनेजर को बुलाया और मैनेजर ने डॉन मोंटेरो का भिखारीबाला हुलिया देखते ही इन्हें रेस्टोरेंट के अंदर कदम रखने से भी मना हीकर दिया!

 

 

मैनेजर ने इनके ऊपर इतना चिल्लाया की इन्होने सपने में भी नहीं सोचाथा की इनके अपने रेस्टोरेंट में इनके साथ कुछ ऐसा होगा ! हालांकि यह रेस्टोरेंट के मैनेजर को बहुत दिनों से यह बता रहे थे की यह बहुत दिनों से भूखे है इसलिए यह लोग थोड़ा बहुत तो खाने के लिए दे ही दें लेकिन मैनेजर ने इनकी एक भी बात नहीं सुनी और इनसे बोलाकी जाओ पहले घर जाकर नहा लो पहले साफ़ सुथरे बनकर आओ तो तुम्हें रेस्टोरेंट के अंदर कदम रखने देंगे लेकिन तब भी तुम यहाँ दूर से लोगों को खातेहुए ही देख पाओगे क्योंकि तुम्हारी ऐसी ओकात नहीं है की तुम इस बड़े रेस्टोरेंट में बैठ कर खाओ इस बात को सुनकरतो जैसे डॉन मोंटेरो के पैरों तलेजमीन खिसक गई क्योंकि इन्होने कभी यह नहीं सोचा था की यह कभी इस परिस्थिति से गुजरेंगे !

इन्होने हमेशा ही अपने एम्प्लॉइजको यह सिखाया है की कैसे जरूरतमंद लोगों की मदद करनी चाहिए लेकिन आज इन्हें असली सच्चाई दिख रही थी यहाँ तक की यह रेस्टोरेंट के बाहर खड़े होकर थोड़ी देर इन्तजार भी करनेलगे की शायद कोई दूसरा इम्प्लॉई आकर इन्हें खाना ऑफर कर दे ! पर कोई भी इनकी तरफ ध्यान नहीं देरहा था जहाँ एक तरफ यह जरूरतमंद लोगों की मदद करने की सोच रहे थे तो वहीँ दूसरी तरफ इनके खुद के होटल के स्टाफ मेंबर इस तरह के लोगों को बेज्जत करने में लगे थे

इस चीज को देखकरइनकी आँखों से आंसू छलक आए और फिर निराश होकर यह फिर अपने दूसरे रेस्टोरेंट में गए जोकि एक लग्जुरियस पार्क में बना था इन्होने जैसे ही रेस्टोरेंट के अंदर कदम रखा वेटर ने तुरंत मैनेजर को बुला दिया इस मैनेजर से भीडॉन मोंटेरो ने यही बताया की यह काफी दिनों से भूखे है इन्हें कुछ खाने को दे दें और यहाँ भी मैनेजर ने इन्हें डाँटकर भगा दिया !

यह कह कर की तुम यहाँ की टॉफी खाने के लायक भी नहीं हो जाओ अपने लायक जगह ढूंढकर वहांखानामांगों !थोड़ी देर तक तो यह उस रेस्टोरेंट के बाहर खड़े रहे और उतनेमें रेस्टोरेंट का शैफ आकर इनके ऊपर चिल्लाते हुए बोलने लगा की यहीं खड़े रहोजब सब लोग चले जाएंगे तो मैं तुम्हें कल का खाना दे दूंगा और वो तुम्हारी जिंदगी का सबसे स्वादिष्ट खाना होगा ! खाना बनाने बाले शैफ की इस बात को सुनकर तो डॉन मोंटेरों समझ गए की यहाँ भी जरूरतमंद की इज्जत करने बाला कोई नहीं है !

 

 

अब डॉन मोंटेरो अपने अगले रेस्टोरेंट में गए वहां पर इन्होने जो सुना वो तो इसके लिए सबसे ज्यादा दर्दनाक था क्योंकि यह वो रेस्टोरेंट था जो इनका सबसे पुराना रेस्टोरेंट था इसी से इन्होने अपने कॅरियर की शुरुआत की थी इसे संभालने बाला कोई और नहीं बल्कि इनका सबसे पुराना असिस्टेंट था जिसे आप इनका राइट हैंड भी कह सकते है इसलिए यह रेस्टोरेंट के अंदर गए तो मैनेजर की जगह इनका राइट हैंड रूसियो आया जब इन्होने उससे खाना माँगा तो उसने कहा मैं तुमसे शराफत से कह रहा हूँ यहाँ से चले जाओ वरनामुझे सिक्योरिटी बुलानी पड़ेगी इसके जबाब में डॉन मोंटेरो कहते है की मुझे तो बस बचा खुचाही दे दो मैं उसे खाकर ही खुश हो जाऊँगा क्योंकि हर कोई मुझे कुत्ते बिल्ले की तरह भगा रहा है और उतने में रूसियोबोल पड़ा तुम जिस तरह दिखोगे लोग तुम्हें उसी तरह ट्रीट करेंगे !

मैंने इस रेस्टोरेंट की चैन को खड़ा करने के लिए बहुत मेहनत की है अगर मैं न होता तो सारे रेस्टोरेंट बिक गए होते क्योंकि इसका जो मालिक है वो लोगों की मदद करते करते कंगाल हो गया होता मैं तो दुआ करता हूँ की कब इस रेस्टोरेंट का मालिक मोंटेरो मर जाए और यह पूरा बिजनस मेरा हो जाए ! अपने सबसे खास वर्कर जिसेडॉन अपना छोटा भाई मानते थे वो इनके बारे में इस तरह के ख्याल रखता था इसे सुनकर इन्हें बहुत धक्का लगा और यह सोचने लगे की मैंने कहाँ कमी छोड़ दी की मेरे ही लोग मेरी सिखाई हुई चीज को इतना गलत तरीके से ले रहे है क्योंकि मैंने तो हमेशा इन्हें लोगों की मददकरना सिखाया है

लेकिन यहाँ तो सब उल्टा हो गया और यह चीज सोचते सोचते यह अपने जितने भी रेस्टोरेंट में गए वहां इन्हें इसी तरह की बेज्जती और निराशा ही मिली अब केवल एक ही रेस्टोरेंटबाकी रह गया था जहाँ पर यह नहीं गए थे इन्हें उम्मीद थी की यहाँ पर इनके साथ ऐसा ही होगा क्योंकि जब भाई जैसे रोसिया इनकी पीठ पर छुरा भोंक सकता है अब कौन है जो इनकी मदद करेगा ?

 

 

दोस्तों उनका यह आखरी रेस्टोरेंट शहर के बिलकुल किनारे प्रकृतिक ख़ूबसूरती के बीच में बनाथा इसलिए यहाँ पर लोगों की खूब सारीभीड़ लगती थी ऐसे में जब यह अपने रेस्टोरेंट के अंदर गए तो भिखारी का हुलिया देख कर वॉचमेन ने रेस्टोरेंट के मैनेजर को बुलाया और मैनेजर ने जब बोलना शुरू किया तो डॉन मोंटेरो के चेहरे पर एक अलग ही सकूं आ गया क्योंकि इस मैनेजर ने इनसे बहुत ही प्यार से बात की और बोले आप बस थोड़ी देर बाहर इन्तजार कीजिये जैसे ही कोई सीट खाली होती है हम आपको तुरंत बुलाएंगे !

हालाँकि इस बात पर डॉन को भरोसा नहीं हुआ लेकिन यह इस चीज से खुश थे की इस बालेमैनेजर ने इन्हें बेज्जत नहींकिया लेकिन असली चमत्कार तो तब हुआ जब बाहर इन्हें लेने के लिए रेस्टोरेंट का मैनेजर खुद आया और वो इन्हें एक ऐसे टेबल पर ले गया जहाँ पर खाने की तमाम चीजें पड़ी थी और जब डॉन टेबल पर बैठकर खाने लगे तभी उस रेस्टोरेंट का मैनेजर आया जिसका नाम मैटयो था और मैटयोने डॉन मोंटेरो को अपनी कहानी बतानी शुरू की कि कैसे यह एक बिजनेस मेन हुआ करते थे

लेकिन कार एक्सीडेंट में अपनी बीबी की जान बचाने के लिए इन्होने अपना सब कुछ बेच दिया फिर भी इनकी बी बी बच नहीं पाई शादी के दो महीने के अंदर ही अपनी बीबी से बिछड़ जाने की बजह से यह खूब सारीशराब पिने लगे इनकी हालत भी किसी भिखारी से कम नहीं थी तभी मैटयोने बतायाकी एक दिन वो इसी रेस्टोरेंट में खाना मांगने आए थे तब न सिर्फ इन्हें इस रेस्टोरेंट के मालिक डॉन मोंटेरो ने खाना दिया बल्कि अगले दिन इसी रेस्टोरेंट में नौकरी पर रख लिया औरआज यह इस रेस्टोरेंट के मैनेजर है!

 

 

इतना कुछ बताने के बाबजूद अभी तक मैटयोको यह पता नहीं चला की यह जिसे भिखारी समझकर अपनी कहानी सुना रहे है वो असल में भिखारी नहीं वो असल में इन्हें नौकरी पर रखने बाला मालिक ही है लेकिन डॉन मोंटेरो इन सभी चीजों को देखकर खुश हो गए और इन्होने अगले दिन जितने भी रेस्टोरेंट थे उन सभी के स्टाफ मेंबर को बुलाकर एक मीटिंग रखी और उस मीटिंग में यह अपना भिखारी बाला हुलिया बनाकर गए डॉन मोंटेरो को देखकर उन सभी स्टाफ मेंबर के मुँह बनाने लगे लेकिन उन्हीं के सामने इन्होने अपना मेकअप उतारा और सबके सामने ऐलान किया की आज में सबको नौकरी से निकलता हूँ

और मेरा सभी रेस्टोरेंट केमैनेजर मैटयोबाले स्टाफ मेंबर होंगे और हम सभी रेस्टोरेंट के लिए नए स्टाफ को काम पर रखेंगे क्योंकि मैं अपनी जिंदगी के अंतिम समय में लोगों की दुआएं लेकर मरना चाहता हूँ और अगर मेरे ही रेस्टोरेंट में इस तरह का काम होगा तो भला मैं कैसे खुश रह सकता हूँ ! तो दोस्तों यह थी आज की कहानी अब आपको इस पर क्या कहना है हमें कमेंट में बताइये !

Leave a Reply

Your email address will not be published.