भारत में हेलीकॉप्टर और दूसरे हवाई जहाज कहा बनते है

भारत में हेलीकॉप्टर कहां पर बनते हैं या फिर भारत में एयरक्राफ्ट कहां पर बनते हैं जैसे अल्ट्रालाइट सिंगल सीट, एरोप्लेन प्राइवेट जेट एरोप्लेन फाइटर जेट और हेलीकॉप्टर संसार एयरक्राफ्ट को भारत की कौन-कौन सी कंपनियां बनाती है। आपको पता चलेगा।

दोस्तों हमारी देश की टोटल जनसंख्या 136 करोड़ के आसपास है और इतने बड़े देश में हमारे पास केवल 950 हेलीकॉप्टर से आए जिनमें से 284 सिविल हेलीकॉप्टर और बाकी बचे हुए 664 मिलिट्री हेलीकॉप्टर है। इनमें से जाता हेलीकॉप्टर फोन कंपनियों के द्वारा बनाए गए हैं क्योंकि भारत में सिविल हेलीकॉप्टर मैन्युफैक्चरर्स की डिमांड बहुत ही कम है 

 यह भी कह सकते हैं कि दुनिया की ज्यादातर देशों में भी सिविल हेलीकॉप्टर की डिमांड बहुत ही कम होती है। मिलिट्री हेलीकॉप्टर की तुलना में अगर तू तू बात करेगी। किस देश के पास सबसे कम हेलीकॉप्टर है तो वहां पर नाम आता है। भूटान का भूटान के पास केवल एक सिविल हेलीकॉप्टर है और इनके पास जीरो मिलती हेलीकॉप्टर है। 

यानी कि इनके पास एक भी मिलती हेलीकॉप्टर नहीं है। अगर तो तू बात करेगी। दुनिया की सबसे ज्यादा हेलीकॉप्टर किस देश के पास है तो यहां पर नाम आता है। यूनाइटेड स्टेट अमेरिका का इनके पास 11000 सिविल हेलीकॉप्टर और 6131 मिलिट्री हेलीकॉप्टर है जो कि इस दुनिया का सबसे ताकतवर देश है जहां पर हमने कंपैरिजन कर ही लिया है तो साथ में ही बात कर लेते हैं।

पाकिस्तान की तो पाकिस्तान के पास केवल 11 सिविल हेलीकॉप्टर और 270 मिलिट्री हेलीकॉप्टर है जो कि भारत के टोटल हेलीकॉप्टर से काफी  ज्यादा कम है क्योंकि पाकिस्तान भारत की तुलना में छोटा देश है, इसलिए बात कर लेते हैं।इंडियन हेलीकॉप्टर एंड एरोप्लेन मैन्युफैक्चरर्स एंड सर्विस प्रोवाइडर कंपनियों के बारे में नंबर वन पवन हंस लिमिटेड भारत की सबसे बड़ी सिविल हेलीकॉप्टर सर्विस प्रोवाइडर का नाम है।

पवन हंस लिमिटेड पवनहंस को 1985 में फोन किया गया था और भारत के सबसे ज्यादा सिविल हेलीकॉप्टर इन्हीं के पास है। पवन हंस लिमिटेड के पास 2246 हेलीकॉप्टर से जो भारत के अलग-अलग राज्यों में अपनी सर्विस देते हैं ए कंपनी अपने खुद के हेलीकॉप्टर मैन्युफैक्चर नहीं करती है। इनके पास सबसे ज्यादा विदेशी कंपनियों की हेलीकॉप्टर है।

जैसे डॉग पीने से 300, 625 एमजी इनके पास 17 हेलीकॉप्टर पीने से 36583, 14 हेलीकॉप्टर है। बेल्ट 164 के 3 हेलिकॉप्टर है बेल 407 भी इनके पास तीन हेलीकॉप्टर  K350 बीसी के इनके पास 2 हेलीकॉप्टर हेलीकॉप्टर विदेशी कंपनियों के हैं।

 बरसात में ही इनके पास हिंदुस्तान एयरोनॉटिकल लिमिटेड के सिक्स हेलीकॉप्टर है जिनका नाम है ध्रुव हेलीकॉप्टर नंबर दो राज हमसा अल्ट्रालाइट तो राज रमसा अल्ट्रालाइट एक इंडियन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी है जो मैन्युफैक्चर करती है। अल्ट्रा लाइट एयर क्राफ्ट को इस कंपनी को फोन किया गया था। 

1980 में यह कंपनी भारत की लार्जेस्ट एयरक्राफ्ट मैन्युफैक्चरर्स कंपनी है जो कमर्शियल माइक्रोलाइट एयरक्राफ्ट बनाने के लिए मजबूर है। राज हमसा अल्ट्रालाइट अब तक 1001 आफ बना चुकी है। इस कंपनी का हेड क्वार्टर है। बेंगलुरु में कंपनी के सबसे पॉपुलर एयरक्राफ्ट का नाम है। 

एक्स ए एक्स ए हनुमान वजह और कली पड़ेगा के सारे राज हमसा के पॉपुलर अल्ट्रालाइट एरोप्लेन है नंबर 3 का टाइटल  फोन सिस्टम टू टाटा कंपनी के बारे में तो आपने जरूर सुना होगा जिसके ओनर है रतन टाटा टाटा कंपनी भारत की सबसे बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनी है। इसकी वर्ल्ड वाइड लाखों-करोड़ों टाटा वही कल चलते हैं। दोस्तों टाटा एडवांस सिस्टम लिमिटेड यानी टीवीएसएलएसएल को फोन किया गया था।

 2007 में इसका हेड क्वार्टर हैदराबाद में यह कंपनी इंडियन डिफेंस पोस्ट के लिए बनाती है। मिसाइल सिस्टम रडार सिस्टम कमांड कंट्रोल सिस्टम, मैरिटाइम सिस्टम एंड मैनेजरियल सिस्टम, होमलैंड, सिक्योरिटी सिस्टम और एयरक्राफ्ट को डांटा एडवांस सिस्टम लिमिटेड 2010 और 2013 के बीच कोर्सेज ऑफ़ कॉर्पोरेशन के साथ पार्टनरशिप करके भारत में बना चुकी है। सिक्योरिटी का s92 हेलीकॉप्टर और लॉकहीड मार्टिन के साथ पार्टनरशिप में पीएसएल लाइव भारत में मैन्युफैक्चरर्स की थी। लोकहित c-130j सुपर है।

 पुलिस की स्ट्रक्चर एक मिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट है जो एट प्रजेंट में इंडियन एयर फोर्स की सर्विस में है और साथ में ही टीएसएल गोइंग इन स्पेस लिमिटेड के साथ मिलकर 84 अपाचे हेलीकॉप्टर की बॉडी पार्ट्स भी बना चुकी है तो दोस्तों यह ठीक टाटा ग्रुप की एक डिफेंस एंड एयरोस्पेस कंपनी जो भारत में अपने एयरक्राफ्ट और डिफेंस सिस्टम के लिए फेमस है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.