दुबई जाने से पहले जान ले इनकी काली सच्चई भारतीय और पकिस्तानी के साथ क्या होता हे

दुबई की काली सच्चाई ! UAE सात अमीरातों से मिलकर बना है और इसका एक प्रमुख अमीरात दुबई है ! दुनियां के सबसे अमीर शहरों में शुमार दुबई हमेशा से ही अपने आलिशान इमारतों , नाईट लाइफ और अपनी अमीरी से लोगों को अपनी ओर आकर्षित करता आ रहा है ! दुबई के लोगों की लाइफ स्टाइल और यहाँ की गगन चुम्वी इमारते हमेशा से अपनी ओर आकर्षित करती आई है !

लेकिन सपनों के शहर इस दुबई की चक्काचोंध में कई ऐसे काले राज़ छिपे है जिन्हें शायद आप नही जानते ! आज हम दुबई की इस चक्काचोंध से दूर उस सच्चाई से रूबरू करवाएँगे जिसे जानकार शायद आप यहाँ जाने का ख्याल छोड़ देंगे ! दुबई की गगन चुम्वी इमारतों और मोल्ज को देखकर आपके दिमाग में पहली बात जरूर इनकी ख़ूबसूरती आती होगी !

लेकिन क्या कभी आपने सोचा है की ये इमारते आखिर बनी कैसे है ? जी हाँ ! पलक झपकते तो बनेगी नही ! इन इमारतों को बनाने के लिए भारत , पाकिस्तान , बांग्लादेश जैसे देशों से गरीब लोग चार पेसे से ज्यादा कमाने के लालच में यहाँ पहुंच जाते है ! जिसका फायदा यहाँ के अमीर लोग उठाते है ! इन इमारतों को जल्दी खड़ा करने के लिए इन मजदूरों को दिन में 14 घंटे में जला देने बाले 120 डिग्री के तापमान में काम करना पड़ता है !

जिसके चलते बहुत सी दुर्घटना भी होती है लेकिन पैसों के चलते दम पर इन्हें दबा दिया जाता है ! इन मजदूरों के रहने की जगह भी बहुत खराब होती है ! दो लोगों की जगह पर 10-10 लोगों को ठूस ठूस कर रखा जाता है ! इसलिए गगन चुम्वी इमारतों और शेखों की तारीफ़ करने से पहले आप एक बार उन मजदूरों के बारे में भी सोच लीजिये , जिन्होंने इन्हें खड़ा करने के लिए मुख्य भूमिका निभाई है या फिर अपनी जान गवाई है !

खाड़ी देशों में यह बात देखी गई है की यहाँ पर रोजगार के लिए काफी लोगों के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है ! कई लोग एजेंट्स के चक्कर में फस जाते है और जब दुबई पहुँचते है तो उनके मालिक उनका पासपोर्ट जब्त कर लेते है और उसके बाद यह अपनी मर्जी से बापिस नही लौट सकते ! इसलिए अपना पासपोर्ट अपने पास ही रखें , किसी को भी इसे न दें !

अन्यथा आप बहुत बड़ी परेशानी में फस सकते है ! ऐसा ही हुआ मुम्बई की फरीदा बेगम के साथ ! इनका मालिक इनकी 3 महीने की तनख्वाह दिए बगैर अपनी दूकान बंद करके और उनका पासपोर्ट लेके फरार हो गया ! वो न तो अब मुंबई बापस जा सकती है और स्वीकृत अवधि से अधिक ठहरने का 29 हजार जुर्माना जब तक नही चुकाती , तब तक दुबई में कोई भी नई नोकरी भी नही कर सकती !

अब उन्हें गिरफ्तारी का डर सता रहा है ! फिलहाल वो एक भारतीय परिवार की शरण में है ! आप खुद सोचकर देखिये की इस महिला पर क्या बीत रही होगी ! दुबई पूरी तरह से मुस्लिम शहर है और वहां उनका सख्त कानून चलता है ! क़ानून इतना सख्त है की पुरुष महिलाओं के कपड़े भी नहीं पहन सकते और बदन में कसे हुए कपड़े की भी मनाही है !

एक दुसरे का हाथ पकड़कर भी नही चल सकते ! ! रमजान के दौरान सार्वजनिक जगहों पर भी किसी रोजेदार के सामने खाने पिने पर भी रोक है ! एक ब्रिटिश नागरिक को दुसरे कार ड्राईवर को ऊँगली दिखने पर जेल में बलात्कारियों , खुनियों के बीच ठूस दिया और तो और एक विदेशी टूरिस्ट जोड़े को एक महिना जेल में रहना पड़ा ! क्योंकि उसने अपने पार्टनर को गाल पर किस कर दिया था !

इसलिए अगर आप अपनी गर्लफ्रेंड के साथ दुबई जाने की सोच रहे है तो जरा होशियार हो जाइए ! जैसा की आप जानते ही है की दुबई सेक्स , शराब और ड्रग्स को लेकर कितना सख्त है ! लेकिन जैसे ही यहाँ रात होती है माहोल बिलकुल ही अलग हो जाता है ! दुनिया का सबसे पुराना प्रोफेशन यानिकी देह व्यापार यहाँ खूब फल – फूल रहा है ! लगभग 30 हजार लडकियाँ यहाँ इसी काम के लिए मौजूद है !

जो एक घंटे के करीब 500 डॉलर लेती है ! इस काम से यहं के अमीर खूब पैसा बना रहे है और इसी की बजह से मानव तस्करी भी बढती जा रही है ! इस काम का यहाँ कोड नाम है लेडीज़ नाईट ! पुलिस इन सबके बारे में जानते हुए भी चुप रहती है ! इसलिए अगर आप महिला हो और किसी बार के पास खड़ी हो तो सावधान हो जाइये क्योंकि कोई भी बिज़नस मेन आपको गलत समझ सकता है और ऐसा एक एशियाई महिला के साथ हो चूका है !

सोनापुर ! यानी सोने की नगरी ! आप जानते हो न दोस्तों ! दुबई में भी एक जगह है सोनापुर ! अगर आप यहाँ गए तो आप समझ जाएंगे की नाम के विपरीत यहाँ के हालत बहुत ज्यादा खराब है ! दुबई में काम करने बाले मजदूरों का घर है ये सोनापुर ! यहाँ लोगों को ठूस ठूस कर रखा जाता है ! लगभग 150 लाख मजदुर यहाँ दयनीय स्थिति में रहते है ! छोटे से कमरे में 8-10 मजदूरों को रखा जाता है !

शिफ्ट के अनुसार एक ही बेड को कई लोगों के साथ शेयर करना पड़ता है ! जिन आलिशान इमारतों , होटलों को देखकर दुबई आकर्षित करता है यह वो ही लोग है जो इनका निर्माण करते है लेकिन घुट-घुट कर जीने पर मजबूर है क्योंकि इन्हें कभी भी पैसे समय पर नही दिए जाते और पासपोर्ट जब्त हो जाते है ! दुबई में लोगों के पास इतना पैसा है की उन्हें खुद नही पता की कहाँ खर्च किया जाए ?

इसलिए सोने से बनी महंगी कारों से लेकर घरों और होटलों में पैसा खर्च किया जाता है ! यहाँ के शेख अब कुत्ते बिल्ले पालने में रूचि नही दिखा रहे है बल्कि अब जंगली खतरनाक जानवरों को पालतू बनाने का चेलेन्ज ट्रेंडिंग में है ! शेर , चीता , बाघ , तेंदुआ इनको सिर्फ दिखावे के तोर पर पाला जा रहा है ! ताकि अपनी अमीरी का वखान किया जा सके ! लेकिन इस जानवरों के बारे में बिलकुल भी नही सोचा जाता !

इन जानवर को जंगल में अपने नेचुरल हेविटेट में जीने का हक है और यही प्रकृति का नियम है ! इसके अलावा दूसरों को भी जान का खतरा अक्सर बना रहता है ! ऐसी ही बहुत सी बाते है अगर जिनकी बात करने बैठ जाए तो सुबह से शाम हो जाएगी ! जैसे पीने के पानी का दुरुपयोग करना ! 40 लाख गेलन मीठा पानी तो सिर्फ गोल्फ के मैदानों को हरा रखने में लग जाता है ! यहाँ जातिवाद के हिसाब से नोकरी और पैसे दिए जाते है !

जैसे नोर्थ अमेरिकन और यूरोपियन लोगों को एक ही कंपनी में एक ही जॉब के लिए तीसरी दुनियां के लोगों से दुगुने पैसे दिए जाते है ! आपको दुबई में फ्री स्पीच की आज़ादी नही है ! पुलिस और सरकार द्वारा ऐसे लोगों की आवाज़ को दवा दिया जाता है ! दुबई प्रगति के नाम पर वातावरण से खिलवाड़ कर रहा है ! तो दोस्तों दुबई की चककाचोंध में खोने से पहले यह कुछ ऐसे काले सच थे जो आपको जरूर जानने चाहिए !

हमारा मकसद सिर्फ ऐसे सच को लोगों से अवगत करवाना है ! जिसके चलते किसी को आगे परेशानी न उठानी पड़े ! और एक बात और बता दूँ दोस्तों इस विडियो में बताए गए सारे फैक्ट्स और जानकारी न्यूज़ और इन्टरनेट से लिए गए है जिसके लिंक डिस्क्रिप्शन में आप देख सकते है !

Leave a Reply

Your email address will not be published.