ऐसा आटा आपके भाग्य को खा जाता है नही होने देता आपकी कोई भी तरक्की

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते ही है कि घर में औरतो का राज चलता है और वे अपनी मर्जी से काम करना पसंद करती है. फिर चाहे घर की सजावट करना हो या फिर किचन में कुछ नया बनाना हो. हर विषय पर महिला किसी की सुनती नही है. एक महिला एक साथ बहुत सारे काम करती है ये बात तो हर कोई जानता है.

लेकिन कुछ एक चीजे किचन में बताई गयी है जोकि नही करनी चाहिए. महिलाओं को कोई भी काम पहले से तैयार करके रखना अच्छा लगता है. ताकि समय भी बचे और एक ही काम बार बार न करना पड़े. लेकिन कुछ एक ऐसी बाते है जिन्हें करने से आपके जीवन में होने वाली तरक्की रुक जाती है.

यदि आपको भी ऐसा लगता है कि आपके परिवार की तरक्की रुक गयी है तो उसका कारण शास्त्रों में आटे को बताया गया है. ज्योतिष शास्त्र की माने तो आटा उतना ही गुंथना चाहिए जितनी उसकी जरूरत हो. लेकिन महिलाएं पुरे दिन भर के लिए आटा एक साथ गूँथ कर रखती है ताकि उन्हें ये बार बार न करना पड़े.

अगर आप पहले से आटा गूँथ के रखते है इससे न केवल आपके घर में धन की हानि होगी बल्कि इससे आपके स्वास्थ्य को भी नुक्सान होगा. अगर आपको पहले ही आटा गुंथना है तो आप आधे घंटे पहले आटा गूँथ लो. लेकिन जरुरत से ज्यादा देर तक गुंथा हुआ आटा नकारात्मक ऊर्जा को सोख लेता है.

अगर पुरे किचन की बात करे तो आपके घर में चकला बेलन, तवा और आटा सभी चीजे आपके जीवन की तरक्की में बाधा बनते है. महिलाएं एक समय में ही सारा आटा गूँथ के रख देती है और फिर उसी आटे से बार बार रोटी बनाके उसे फ्रिज में स्टोर करती है. ऐसे आटे को इस्तेमाल करने से बिलकुल बचना चाहिए. एक समय से ज्यादा बनने वाले आटे को अगर आप फ्रिज में रखती है तो ये अशुभ माना जाता है. आप अगर ताजा आटा गुंथे तो आपके लिए ज्यादा सही होगा. नहीं तो ये पिंड के समान हो जाता है.

नही गूंथना चाहिए गोल आटा

जब भी हम आटा गूंथते है तो उपर मुट्ठी की छाप डालते है. आप उंगलियों को मोडकर छाप डाले जिससे वह गोल सा पिंड न दिखकर उबर खाबर टाइप से हो जाये. ऐसा आटा नेगेटिव ऊर्जा को घर में आने से बचाता है. इसके अलावा आटे को एकदम से चिकना करके भी नही रखना चाहिए. कहा जाता है कि गुंथे हुए आटे को दोबारा इस्तेमाल करना भी अशुभ होता है. ऐसे में घर का माहौल लड़ाई झगड़े की भावना को उत्पन्न करता है.

पहले से गुंथे हुए आटे की रोटियां खाने से स्वास्थ्य पर थोडा गलत प्रभाव पड़ता है. ऐसे आटे की रोटी खाने से मानसिक टेंशन भी बढती है. इसलिए इस तरह के आटे की रोटी खाने से आपको बचना चाहिए. इस बात का हमेशा ध्यान रखे कि बचा हुआ आटा फ्रिज में नही रखना है. बल्कि उसकी जितनी हो सके रोटियां बना लें. अगर आपको आटा फ्रिज में रखना ही है तो उसपर अपनी उंगलियों के निशाँन बना लें और फिर रखे.

आटा  गूंथने के नियम

आटा गूंथने के भी नियम बनाये गये है जिन्हें शायद आप नही जानते है. अक्सर हम सभी आटे को पानी से गूंथते है लेकिन आप पानी में थोडा सा दूध डाल दिया करे. आपे चाहे तो ज्यादा दूध लें या फिर एक से 2 चम्मच डालकर आटा गूँथ लें. ऐसा करने से जब आप उसे गैस पर फुलायेंगी तो रोटी से निकलने वाली खुशबु सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाएगी. माँ लक्ष्मी को भी अपनी तरफ आकर्षित करती है.

चकला बेलन को हमेशा साथ रखे. उसे खड़ा करके न रखे और तवे को चूल्हे के दाहिनी तरफ रखे. उसे भी खड़ा करके रखे व् छूपा करके रखे. हमेशा साफ़ तवे पर ही खाना बनाएं. आपके घर में गेंहू का आटा है तो उसमे सूखे तुलसी के 1 से 2 पत्ते डालकर रखते है. इसके बाद जब आप उस आटे से रोटी बनाते है तो सबसे पहले और आखिर में एक छोटी सी रोटी बनाकर हटा लें. पहली रोटी गाय के लिए और लास्ट वाली कुत्ते के लिए होती है.

अगर आपको आसपास कहीं गाय नही मिलती है तो आप छोटी छोटी रोटियां बनाकर कहीं डाल आयें. उन रोटियों को चींटियाँ खा लेगी. ऐसा करने से आपकी सेविंग्स बढ़ेगी और आपके जीवन की मुश्किलें भी कम होगी. आपको अगर किसी भी तरह का दोष है वो भी समाप्त हो जायेगा.

आपके जीवन में खुशियाँ आयेगी और आपके सरे दुःख दूर होंगे. अगर आप भी अपने जीवन में उन्नति और खुशियाँ चाहते है तो हमारे द्वारा दी गयी बातो पर जरुर ध्यान दें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *