ईरान के ऐसे कानून जिसे सुनकर आप भी चौक जाओगे और कुछ अनोखी बाते देखिये

ईरान में यदि कोई व्यक्ति किसी महिला के साथ बलात्कार करता है तो पुलिस के पास ये अधिकार होता है की वो उस व्यक्ति को उस महिला से शादी करने को मजबूर करे। हालाँकि वे तुरंत बाद उसे तलाक भी दे सकता है। ईरान में तलाक सुदा महिलाओ कि संख्या एह विवाहित की तुलना में बहुत है। शादी के घंटे बाद तलाक अजीब देश है ईरान में विवाहित बलत्कात का कोई कानून नहीं है। क्युकी ईरान सरकार मानती है कि एक महिला अपने पति की सम्बपत्ती होतीं है यदि पति अपनी पत्नी के साथ दूर व्यवहार करता है तो उस पुरुष को अपने परिवार के किसी पुरुष द्वारा समझाया या दमकाया जाता है।

लेकिन इसमें पुलिस कुछ नहीं कर सकते है। ये भी सुन लीजिए ईरान में.जो लोग शादी नहीं करते उन्हें अपने परिवार के साथ रहना मना है। और उन्हें मर्द की सुचना में रखा जाता है।…….अगर रस हिसाब से देखे तो आपके पड़ोस में कितने मर्द है हमे कमेंट बॉक्स में जरुर बताए। इस देश की कोई भी महिला गैर मर्द से बात नहीं कर सकते और बिना हिजत के पक्ब्लिक प्लेस में नहीं जा सकती।

अगर ऐसा करते हुए पकड़ी गए तो। उसे जेल हो सकती है इसके आलावा धार्मिक नियमो के अनुसार कोई महिला नहाने के कपड़ो में किसी पुरुष के सामने नहीं सकती। ईरान में लड़की की शादी से पहले उसकी वर्जनिटी का प्रमाण मांगा जाता है और शादी से पहले वोरजनीटी को वापस पाने के लिए सर्जरी का सहारा ले सकती है।

ताकि उनकी वोरजनिटी उनको वापस मिल सके। इस सर्जरी को हैमोनो प्लस्टिक कहा जाता है। चार साल पहले यहां के मूलवी आयात तुलना सदिक रुहानी ने एक हत्वा जारी किया था। जिमे.इन्होने हैमोनो प्लास्टिक को वैद बताया था लेकिन ये सर्जरी आदिकारिक तौर पर मान्य नहीं है दोस्तों क्या आप जानते है ईरान में शादी घंटो के.हिसाब से या दिनों या हफ्तों के हिसाब से भी कर सकते है।

इस शादी को मुता निगाह कहा जाता है। जिसका मतलब है एहसथाई शादी अब आप सोच रहे होंगे ये मुता निगहा क्या है। तो लगी हाथो दो लाइन इसके बारे में भी बता देते है। मुता निगहा को कॉन्ट्रेक्ट मैरेज या क़ानूनी विषयवर्ती भी कहते है। मुता का शाब्दिक अर्थ है। आनद मज़ा पलेजर इसी बात से यह पता चलता है कि मुदा शादी का कितना वाहियात रूप है।

महज मज़े के लिए शादी लेकिन मुसलमान बाई इस बात से वाकिब है कि इस्लाम में वेश्यावर्ती हराम है जिस्म बेचने या खरीदने पर पाबंदी है। निगहा के अलावा किसी तरह का शारारिक संबंद जिन्हा माना जाता है। सिंपल शब्दो में कहे तो आवेद संबंद इसे देख कर तो लगता है। मचप में रहते हुए बैडफीलि करने का उपाय प्रतीत होता है मुद्दा निगहा की कुछ शर्ते होती है।

जैसे लड़की पवित्र हो उसका मुस्लिम होना जरूरी है। या कम से कम पहली किताब हो पहले से शादी शुदा हो बह विचार से लिप्त हो। बाकिल हो। दिलचस्प बात तो यह है। तमाम शर्ते औरतो के लिए है। मर्द किसी भी उम्र का किसी भी रंग रूप का खिला खाया या कुंवारा इलिजिबल हो सकता है और कॉन्ट्रेक्ट ख़त्म होने के बाद मुता निगहा समाप्त हो.जाता है ऐसी शादी करने का अधिकार केवल सिया मुस्लिम को ही है।

सुनी मुस्लाम को बिलकुल भी नहीं। क्युकी इस देश में 95 प्रतिशत से ज्यादा सिया मुस्लिम रहते है। में शुक्र गुजार करते हुए कि हमारे भारत के.मुसलमानो में ये कानून नहीं है। तो ये बाते अपने आप परणे ली. इस वीडियो ईरान की चर्चा हो रही है दोस्तों आपको ये बात जान कर हैरानी होगी कि सन 1980 में ईरान और इराक का युद्ध हुआ था।

जिसमे अमेरिका की दोगली निति सामने आई थी एक तरफ अमेरिका युद्ध में इराक को सयोग दे रहा था और दूसरी तरफ ईरान को युद्ध सामगिरि और हथियार रहा था। ईरान देश दक्षणी कोरिया के जैसे सिटीलाइट टेलीविजन बेन कर रखा है। इस देश में सरकार द्वारा दिखाए जाने वाले चैनल ही चलते है दोस्तों क्या आपको पता है।

कि 2013 में ईरान के सांसद में एक पिल पास हुआ था। जिसमे पिता गोद ली हुई बेटी से शादी कर सकता है। ईरान देश में लड़की की क़ानूनी उम्र 13 साल रखी गई है और लड़का की क़ानूनी उम्र 15 साल रखी गयी है। उम्र ये वोट भी दे सकते है। इसी वजा से ईरान में वरस्यावर्ती बढ़ कर 635 प्रतिशत हो गई है।

अकेले में तेरान लगभग 84 हज़ार महिलाए और लड़कियां विषयवर्ती में है। फ़्रांस और जर्मन जैसे देशो में सबसे ज्यादा ईरानी महिलाओ की तस्करी की जाती है। इसी के साथ ईरान के दक्षणी पश्मी एषिया बागो में हीरोइन की स्मग्लिंग भी बहुत ज्यादा होती है। इसे रोकने के लिए लगभग पिछले 25 वर्ष में 3600 से अधिक ईरानियो की मौत हो चुकी है।

दोस्तों लगभग 14 दशमलब 2 प्रतिशत ईरानी मोटापे से गर्स्त है। जो मोटे लोगो वाले देश के मामले में 41 वे स्थान पर है। पर सामूवा मोटापे लोगो में प्रथम स्थान पर है। जहां की 75 प्रतिशत आबादी मोटापे से गर्स्त है। जबकि अमेरिका इस मामले में छटे स्थान पर है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.